Monday, 22 September 2014

देखा पलट कर चाहत उसे भी थी

देखा पलट कर चाहत उसे भी थी देखा पलट कर चाहत उसे भी थी
मेरी तरह दुनिया से शिकाय उसे भी थी। मेरी तरह दुनिया से शिकाय उसे भी थी
देखा पलट कर चाहत उसे भी थी रो दिए वो मुझे कफ़न में देख कर उस दिन पता चला मेरी जरूरत उसे भी थी।